धान को बारिश से बचाने के लिए उपार्जन केन्द्रों में सभी व्यवस्था करें सुनिश्चित – कलेक्टर छिकारा

धान को बारिश से बचाने के लिए उपार्जन केन्द्रों में सभी व्यवस्था करें सुनिश्चित – कलेक्टर छिकारा
समय – सीमा की बैठक में विभागीय कार्यों में प्रगति लाने के दिये निर्देश

गरियाबंद। कलेक्टर आकाश छिकारा ने आज साप्ताहिक समय – सीमा की बैठक में जिला अधिकारियों को विभागीय कार्यों में प्रगति लाने के निर्देश दिए। उन्होंने बैठक में विभागवार योजनाओं एवं विभागीय गतिविधियों की समीक्षा की। कलेक्टर ने कहा कि वर्तमान में समर्थन मूल्य पर किसानों से धान खरीदी का कार्य चल रहा है। धान खरीदी व्यवस्था की देखरेख के लिए समितिवार नोडल अधिकारी नियुक्त किए गए है। सभी नोडल अधिकारी अपने समितियों का नियमित रूप से निरीक्षण करें। साथ ही संबंधित क्षेत्र के एसडीएम, तहसीलदार भी सतत रूप से निरीक्षण करते रहे ताकि पंजीकृत किसानों को धान बेचने में किसी भी प्रकार की असुविधा न हो। उन्होंने कहा कि मौसम विभाग द्वारा जानकारी दी गई है कि आगामी कुछ दिनों में प्रदेश के कई जिलो में बारिश होने की संभावना है। बेमौसम बारिश होने से खरीदे गए धान खराब न हो पाए, इसके लिए धान के सुरक्षित रख-रखाव की व्यवस्था समितियों/ उपार्जन केन्द्रों में की जाये। उपार्जन केन्द्र में धान के बोरियों को केप कव्हर एवं धान की ढेरियों को तिरपाल आदि से ढक कर सुरक्षित रखना सुनिश्चित करें। उपार्जन केन्द्र में बारिश के पानी का जमाव न हो इसके लिए ड्रेनेज सिस्टम की व्यवस्था करें। कलेक्टर ने कहा कि सीमावर्ती राज्यों से आने वाले धान की रोकथाम के लिए विभिन्न चेक पोस्ट बनाए गए है, जहां अधिकारी-कर्मचारी की ड्यूटी लगाई गई है। वे यह ध्यान रखे कि अन्य राज्य से यहां धान बिक्री के लिए कोई बिचौलिये न ला पाये।
कलेक्टर छिकारा ने संबंधित विभाग के अधिकारियों को चैटबोट संवाद, टीएल एवं लोक सेवा गारंटी अधिनियम में प्राप्त शिकायतों के प्रकरणों का निराकरण निर्धारित समयावधि में करने के निर्देश दिये। उन्होंने जल जीवन मिशन के तहत प्रारंभ हो चुके सभी कार्याे में प्रगति लाने के निर्देश दिए। इसी तरह विभिन्न विभागों को शासकीय प्रयोजनों हेतु भूमि आवंटन की प्रक्रिया पूर्ण करने, एकीकृत किसान पोर्टल में संशोधन करने, स्वच्छ भारत मिशन के तहत प्लास्टिक वेस्ट मेनेजमेन्ट की स्थापना करने, स्वच्छ भारत मिशन के तहत ओडीएफ के 100 परिवारों से कम गांव के लिए कार्ययोजना बनाने, पीएम किसान अंतर्गत शत् प्रतिशत ईकेवायसी करने, सड़क पर घुमंतू पशुओं पर रेडियम लगाने तथा उन पशुओं को कांजी हाउस, गौठान एवं गौशाला में रखने के निर्देश दिये। सड़क पर पालतू पशु पाये जाने पर उन मालिकों के ऊपर चलानी कार्यवाही करने को कहा। जिससे सड़क पर पशुओं से होने वाले दुर्घटनाओं से बचाव हो सके।

इस अवसर पर जिला पंचायत के सीईओ श्रीमती रीता यादव, अपर कलेक्टर अविनाश भोई, संयुक्त कलेक्टर नवीन भगत, समस्त अनुविभागीय अधिकारी एवं जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।


There is no ads to display, Please add some

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *