बिंद्रानवागढ़ विधानसभा क्या इस बार भी मतदाताओ का साइलेंट मोड खिलाएगी फूल या पंजा का बजेगा बिगुल

बिंद्रानवागढ़ विधानसभा क्या इस बार भी मतदाताओ का साइलेंट मोड खिलाएगी फूल या पंजा का बजेगा बिगुल

गरियाबंद। चुनावी सरगर्मी के बीच इस बार बिंद्रानवागढ़ में शुरुआत से ही कांग्रेस के पक्ष में लहर दिख रहा था,रहा सहा कसर भीतरघातियों ने पुरा कर लिया।यही वजह है कि कांग्रेस इस बार भाजपा के गढ़ पर फतह पाने का दावा कर रही है।जीत के दावे का पलड़ा तब भारी हो गया जब मिडिया रिपोर्ट में भाजपा व संघ द्वारा जीत के दावे वाले गिनाए गए सीट में बिंद्रानवागढ़ का नाम गायब मिला।लेकिन भाजपा के रणनीतिकारो के हवाले सूत्र बताते हैं,पिछली बार भी कांग्रेस के पक्ष में ऐसा ही माहौल था,लेकिन बिंद्रा नवागढ़ के साइलेंट वोटर्स ने हवा की हवा निकाल दिया था, दावा है की इस बार भी भाजपा की जीत कायम रहेगी।

कांग्रेस का दावा भूपेश पर भरोसा कायम रहेगा

 

कांग्रेस के जिला अध्यक्ष भाव सिंह साहु ने दावा किया है की जीत इस बार कांग्रेस की होगी।श्रीसाहू ने कहा की भूपेश सरकार ने अपने पांच साल के कार्यकाल में क्षेत्र के विकास के साथ साथ किसान, मजदूर,बेरोजगार के लिए बेहतर योजनाएं चलाई,नई सरकार में फिर से किसानो की कर्ज माफी,3200 रुपए में धान खरीदी के अलवा महिला समूह के लिए ऋण माफी का एलान किया , आम मतदाताओं ने कांग्रेस पर फिर से भरोसा जताया है।

भाजपा का दावा मोदी ग्यारंटी दिलाएगी जीत

कांग्रेस की तरह भाजपा भी अपनी जीत के प्रति पूर्ण अस्वस्त है,भाजपा पार्टी से नियुक्त चुनाव संचालक डाक्टर राम कुमार साहू ने कहा की बिंद्रा नवागढ़ भाजपा का गढ़ है,स्थिति बरकरार रहेगी।हवा नही आंधी में भी यहा के मतदाताओं का भरोसा कमल के प्रति रहा है।धान खरीदी में कांग्रेस की तुलना में प्रति एकड़ एक हजार रुपए ज्यादा और कीस्तो के बजाए एक मुश्त भुगतान,महिला वंदन योजना के साथ साथ मोदी की गारंटी पर मतदाताओं ने भाजपा पर पुनः भरोसा जताया है।

कांग्रेस के दावे के तीन बड़ी वजह

टिकट के ऐलान के बाद पूर्व विधायक डमरूधर पुजारी,बाबा उदय नाथ, हलमंत ध्रुवा जैसे चेहरे खुल कर नाराजगी जाहिर किया,भागीरथी मांझी ने तो आप का दामन भी थाम लिया था,सभी को मना लिया गया पर सूत्र बताते है इनमे से ज्यादातर चेहरे ने भाजपा के लिए काम नही किया। दूसरी वजह बूथ मैनेजमेंट का है, बताया जाता है की कांग्रेस ने भाजपा के बूथ, मंडल व जिलास्तर के ज्यादातर उन चेहरे को मैनेज कर लिया जो प्रत्याशी से व्यक्तिगत खुन्नस रखते थे। ऐसे लोगो पर भाजपा कार्यवाही की तैयारी कर रही है।
तीसरी वजह भाजपा के परंपरागत वोटर्स माने जाने वाले माली समाज ने इस बार पार्टी के खिलाफ खुल कर काम किया।समाज के मुखिया और भाजपा ओबीसी मोर्चा के जिला अध्यक्ष ने कांग्रेस प्रत्याशी के समर्थन में काम किया,भाजपा प्रत्याशी के खिलाफ बैठक लेते विडियो भी वायरल हुआ था। रमन सिंह के सभा में भी नही पहूंचे थे ओबीसी मोर्चा जिला अध्यक्ष।

भाजपा के दावे के तीन बड़ी वजह

अब तक हुए 13 विधानसभा चुनाव में 9 बार भाजपा ने जीता है,कई विषम परिस्थिति और कांग्रेस के पक्ष में माहौल के बीच भी इस सीट पर भाजपा जीत का परचम लहराया है।दूसरी वजह जातिगत समीकरण पर फोकस किया कहा जाता है कि इस सीट पर सर्वाधिक आदिवासी वोटर्स हैं जहा स्थानीयता का कार्ड खेल भाजपा आदिवासी वोटर्स को रिझाने में सफल रहा,दावा किया जा रहा है ओबीसी में साहू और यादव वोटर्स भी भाजपा के पक्ष में मतदान किया।तीसरी वजह बूथ क्रमांक 1 से 130तक कांग्रेस की बढ़त को रोकने भाजपा ने कांग्रेस के गढ़ में मैनेज का रणनीति बनाया था,जिसे सक्सेफूल होने का दावा किया जा रहा है।इसकी आंच कुछ कांग्रेसी नेताओं तक भी आया, आशंका जता कर की गई शिकायत पर कांग्रेस आला कमान ने बिंद्रा नवागढ़ के दो नेताओ को नोटिस तक थमा दिया है।


There is no ads to display, Please add some

Related post

Gariaband: नक्सली के मंसूबे पर फेरा पानी आईईडी लगाकर विस्फोट करने की योजना फेल

Gariaband: नक्सली के मंसूबे पर फेरा पानी आईईडी लगाकर…

नक्सलियों द्वारा आमजन एवं सुरक्षा बलों को जान से मारने की नियत से आईईडी लगाकर विस्फोट करने की योजना को जिला…
बिना डिग्री इलाज, झोलाछाप डॉक्टरों  कर रहे हैं जिला स्वास्थ्य विभाग से आंख मिचौली…

बिना डिग्री इलाज, झोलाछाप डॉक्टरों कर रहे हैं जिला…

गरियाबंद/छुरा। आपको बता दे कि इन दिनो अभी गर्मी का मौसम चल रहा है तापमान 40 सेंटीग्रेट अधिक चल रहे हैं…
छाल क्षेत्र में हाथी के बाद ,भालू का दहशत हमले से फारेस्टगार्ड की माँ की हुई मौत

छाल क्षेत्र में हाथी के बाद ,भालू का दहशत…

Raigarh। छाल क्षेत्र में हाथी के बाद भालू ने दहशत फैला दिया है । आज छाल क्षेत्र में भालू के हमले…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *