जिला प्रशासन लोगों की मांग एवं समस्याओं का निराकरण करने प्रतिबद्ध : कलेक्टर छिकारा

जिला प्रशासन लोगों की मांग एवं समस्याओं का निराकरण करने प्रतिबद्ध : कलेक्टर छिकारा
जिला स्तरीय जनसमस्या निवारण शिविर में कुल 87 आवेदन हुए प्राप्त शासकीय योजनाओं और उसके लाभ के बारे में किया गया जागरूक

गरियाबंद। लोगों को शासकीय योजनाओं की जानकारी देने एवं उन्हें योजनाओं से लाभान्वित करने के लिए जिला स्तरीय  जन समस्या निवारण शिविर का आयोजन किया जा रहा है। इसी कड़ी में आज विकासखंड फिंगेश्वर के ग्राम जामगांव में शिविर का आयोजन किया गया। शिविर में विकासखंड फिंगेश्वर सहित आसपास के अन्य गांव के लोग भी पहुंचकर योजनाओं की जानकारी ली।

साथ ही शासन की योजनाओं का लाभ लेने के लिए जागरूक हुए। शिविर में शामिल कलेक्टर आकाश छिकारा ने कहा कि जिला स्तरीय जन समस्या निवारण शिविर का उद्देश्य लोगो को उनकी समस्याओं और मांगों से राहत दिलाना है।

जिला प्रशासन लोगों की समस्याओं के निराकरण करने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने सभी लोगों को शासकीय योजनाओं का लाभ लेने के लिए प्रेरित किया। शिविर में सभी विभागों द्वारा स्टॉल लगाए गए थे, जिसमें लोगों ने अपनी मांगों और समस्याओं से संबंधित आवेदन दिए। शिविर में ग्रामीणों से कुल 87 आवेदन प्राप्त हुए। कलेक्टर छिकारा ने प्राप्त आवेदनों का यथा शीघ्र निराकरण करने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए।

शिविर में जिला पंचायत सभापति श्रीमती मधुबाला रात्रे, वरिष्ठ नागरिक भावसिंह साहू, स्थानीय जनप्रतिनिधियों सहित जिला पंचायत सीईओ श्रीमती रीता यादव, एसडीएम फिंगेश्वर नवीन भगत, जनपद पंचायत सीईओ अजय पटेल अन्य विभागीय अधिकारी कर्मचारी एवं ग्रामीणजन मौजूद रहे।

सक्षम योजना के तहत पूर्णिमा और दुलेश्वरी को मिलेगा 2 लाख रुपए का ऋण, स्वरोजगार स्थापित करने में मिलेगी मदद

जिला स्तरीय जन समस्या निवारण शिविर में दो महिलाओं को मौके पर ही ऋण स्वीकृति का लाभ दिया गया। इनको आर्थिक रूप से मजबूत बनाने सक्षम योजना के तहत दो- दो लाख रुपए की ऋण स्वीकृत दी गई। ऋण स्वीकृत होने से बेसहारा महिलाओं को स्वरोजगार स्थापित करने में मदद मिलेगी। आजीविका विकसित होने से इन महिलाओं को आर्थिक मजबूती मिलेगी।

इनमे जामगांव निवासी विधवा पूर्णिमा साहू एवं परित्यक्ता दुलेश्वरी सिन्हा शामिल है। महिला बाल विकास विभाग के कार्यक्रम अधिकारी ने ऋण स्वीकृति देते हुए बताया की पूर्णिमा साहू आटा चक्की का स्वरोजगार एवं दुलेश्वरी सिन्हा फल दुकान संचालित करने के लिए आवेदन दिए थे। दोनो महिलाओं को सक्षम योजना के तहत ऋण स्वीकृति दी गई है। उन्होंने बताया की राज्य शासन द्वारा संचालित  सक्षम योजना के तहत विधवा और परित्यकता महिलाओं को आर्थिक स्वावलंबी बनाने दो लाख रुपए तक की ऋण देने का प्रावधान है।

’शिविर में राशन, पेंशन, आवास एवं अन्य योजनाओं की दी गई जानकारी’ – जिला स्तरीय जनसमस्या निवारण शिविर में मौजूद लोगों को सभी विभागों द्वारा संबंधित विभागों में संचालित योजनाओं की जानकारी दी गई। लोगों को राशन कार्ड,  पेंशन प्रकरण,  आवास योजना,  किसान सम्मान निधि, राजीव गांधी किसान न्याय योजना, राजीव गांधी भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना, श्रम विभाग, मनरेगा, स्वास्थ्य विभाग, डॉ खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना, महिला एवं बाल विकास विभाग, उद्यानिकी विभाग, राजस्व विभाग सहित अन्य विभागों अंतर्गत संचालित योजनाओं की जानकारी संबंधित विभाग के अधिकारियों द्वारा विस्तार से दी गई। साथ ही इन योजनाओं से जुड़ कर इसका लाभ उठाने के लिए प्रेरित भी किया गया।


There is no ads to display, Please add some

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *