छ.ग. को बनाना है मलेरिया मुक्त राज्य, आज से 20 दिवसीय नौवॉ चरण प्रारंभ

छ.ग. को बनाना है मलेरिया मुक्त राज्य, आज से 20 दिवसीय नौवॉ चरण प्रारंभ

गरियाबंद/फिंगेश्वर। छत्तीसगढ़ को मलेरिया मुक्त बनाने स्वास्थ्य विभाग लगातार अभियान चला रहा है। इससे अच्छे एवं संतोषजनक परिणाम भी प्राप्त हो रहे है। इस बारे में जानकारी देते हुए स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने बताया कि मलेरिया मुक्त छत्तीसगढ़ अभियान का 20 दिवसीय नौवां चरण 28 नवंबर से 18 दिसंबर तक चलाया जाएगा। जिसके संबंध में स्वास्थ्य विभाग के सभी कर्मचारियोंकी बैठक खंड चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय में रखी गई। इस दौरान बताया गया कि स्वास्थ्य विभाग की टीम विकासखंड के सभी ग्राम पंचायतों व इलाकों में घर-घर पहुंचकर सभी लोगों की मलेरिया की जांच करेगी। इस दौरान पॉजीटीव पाए गए लोगों को दवाई खिलाकर मलेरिया का इलाज शुरू किया जायेगा। तथा दवाई खिलाने के बाद दवा कर रेंपर वापस करेंगे। गौरतलब है कि मलेरिया के मामलों को निम्नतम स्तर तक ले जाकर पूर्ण मलेरिया मुक्त राज्य के लक्ष्य को हासिल करने के लिए प्रदेश में लगातार यह अभियान चलाया जा रहा है। खण्ड चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि मलेरिया मुक्त छत्तीसगढ़ अभियान के तहत मलेरिया की जांच और इलाज के साथ ही इससे बचाव के लिए जन जागरूकता संबंधी गतिविधियां भी चलाई जाएगी। इस दौरान लोगों को रोज मच्छरदानी के प्रयोग के लिए प्रोत्साहित किया जायेगा। घर के आसपास स्वच्छता बनाए रखने और मच्छरां को पनपने से रोकने के उपाय भी लोगों को बताए जाएंगे। मलेरिया मुक्त छत्तीसगढ़ अभियान के तहत विकासखंड में टीमों का गठन किया गया है इन टीमों में स्वास्थ्य कार्यकर्ता के साथ मितानिनों को रखा गया है और प्रत्येक घर में जाकर सभी लोगों की मलेरिया की जांच आरडी किट के माध्यम से की जा रही है और पॉजिटिव पाए जाने पर उनका स्लाइड बनाया जायेगा। उसके बाद भी पॉजीटिव पाए जाने पर उन्हें उचित दवाई दी जाएगी। दवाई खिलाने के बाद पुनः स्लाइड बना कर उनकी जांच की जाएगी। इस दौरान खण्ड चिकित्सा अधिकारी बीपीएम, बीईटीओ, समस्त सेक्टर सुपरवाइजर, एलएचवी, ग्रामीण स्वास्थ्य संयोजक, सीएचओ एवं विभाग के अन्य स्वास्थ्य कर्मी उपस्थित रहे।


There is no ads to display, Please add some

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *